अब कोई ख्वाइश नही है दिल मैं

Hindi Sad Poem for girl

अब कोई ख्वाइश नही है दिल मैं अब कोई हलचल नही है दिल मैं में पत्थर की बनना चाहती हूँ मैं बेजान हो जाना चाहती हूँ मैं टूट कर बिखर रही हूँ मैं आग मैं सुलग रही हूँ मैं अपनो …

Read moreअब कोई ख्वाइश नही है दिल मैं